बस पलट कर बनी आग का गोला, 50 की मौत की आशंका

पन्ना,५/५ः मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में एक यात्री बस अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी और उसके बाद उसमें आग लग गई। इस हादसे में 21 यात्री जिंदा खाक हो गए। कई और शवों के कंकाल बस के भीतर फंसे हुए हैं। अपुष्ट सूचना में मृतकों की तादाद 50 बताई गई है। राज्य सरकार ने हादसे के शिकार बने यात्रियों के लिए राहत की घोषणा की है। हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर शोक व्यक्त किया है।सागर संभाग के आयुक्त आरके माथुर ने आईएएनएस को बताया कि सोमवार को छतरपुर से पन्ना की ओर जा रही एक निजी यात्री बस पांडव फाल के पास भैरव घाट क्षेत्र में अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी और उसके बाद बस में आग लग गई। बस में सवार 12 यात्रियों को सुरक्षित बचा लिया गया है। माथुर ने कहा,बस में आग लगने के बाद विस्फोट की भी आवाज सुनी गई। आग काफी विकराल रूप लिए हुए थी। राहत व बचाव कार्य जारी है। हादसे में अब तक 21 लोगों की मौत हुई है। शव पूरी तरह कंकाल में बदल चुके हैं। माथुर ने बताया कि बस के भीतर अभी कई यात्रियों के कंकाल हैं, उन्हें निकालने का अभियान जारी है। इस घटना की मजस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं।माथुर ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख, गंभीर घायलों को 50-50 हजार और मामूली घायलों को 25-25 हजार रूपये देने की घोषणा की है। इस बीच, पन्ना जनसंपर्क कार्यालय की ओर जारी बयान में मृतकों की संख्या 50 बताई गई है। लेकिन संभाग आयुक्त माथुर ने इसकी पुष्टि नहीं की। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार आग लगने के बाद कुछ यात्री किसी तरह बाहर निकल पाए और जो बस से नहीं निकल पाए वे पूरी तरह जल गए हैं। पुलिस ने कहा कि घायलों को पन्ना के जिला चिकित्सालय में ले जाया गया है। पुलिस के अनुसार, इस मामले में सबसे ब़डी चुनौती मृतकों की शिनाख्त है, क्योंकि यात्रियों का शरीर पूरी तरह जलकर कंकाल में बदल चुका है।

50 लोगों की झुलसकर मौत …

अपुष्ट सूचना के अनुसार आग में 50 लोगों की झुलसकर मौत हो गई व12 लोग बुरी तरह झुलस गए। पुलिस के मुताबिक अनूप ट्रैवल्स की बस छतरपुर से पन्ना जा रही थी। बस दोपहर करीब 12.40 बजे पन्ना की ओर रवाना हुई थी। दोपहर दो बजे के करीब बस जब पांडव फॉल पहुंची, तभी पुलिया के पास बस अनियंत्रित होकर पलट गई। इससे बस में आग लग गई। यह सबकुछ इतना अचानक हुआ कि यात्रियों को बस से बाहर निकलने का मौका ही नहीं मिला। बस में फंसे यात्री बाहर नहीं निकल पाए।

सीएम ने बढाई मुआवजे की राशि…

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। इसके अलावा, मृतकों की पहचान करके के लिए शवों का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। मृतकों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 2 लाख, गंभीर घायलों को 50 हजार, जबकि सामान्य घायलों को 25 हजार रूपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई है। मुख्यमंत्री ने शुरू में मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रूपए देने की घोषणा की थी। पन्ना की विधायक और मंत्री महदेले ने मुख्यमंत्री को फोन करके मुआवजे की रकम बढ़ाने की दरख्वास्त की। इसके बाद, मुख्यमंत्री ने राशि बढाकर दो-दो लाख करने का एलान किया।

डीएनए टेस्ट के जरिए होगी शिनाख्त…

हादसे में यात्रियों के शव बुरी तरह से झुलस गए है. शव इस हालत में मिले है, जिसकी पहचान नहीं हो सकी है. ऎसे में अब डीएनए टेस्ट के जरिए शव की पहचान की जाएगी. डीएनए सेंपल कलेक्शन के लिए सागर से फोरेंसिक विशेषज्ञों की टीम मौके पर रवाना हो गई है।

Comments

comments