खौफनाक मंजर: 20 बंधक, 17 घंटे और एक आतंकी

सिडनी,१६/१२ः क्रिसमस की तैयारियों में जुटे ऑस्ट्रेलिया के लिए सोमवार का दिन किसी भयानक सपने जैसा रहा। सिडनी के मशहूर कैफे ‘लिंट चॉकलेट’ में एक सिरफिरे आतंकी ने दो भारतीयों (विश्वकांत अंकित रेड्डी व पुष्पेंदु घोष) समेत करीब 20 लोगों को बंदूक की नोक पर 17 घंटे तक बंधक बनाए रखा। हालांकि सुरक्षा बलों ने ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम देते हुए आतंकी हारून मोनिस को मार गिराया और बंधकों को छुड़ा लिया। इस दौरान मुठभेड़ में दो बंधकों की भी जान चली गई, जिनमें 38 वर्षीय एक महिला और 34 वर्षीय पुरुष शामिल है। कम से कम चार लोग घायल भी हुए हैं। ऑस्ट्रेलिया में संभवत: यह पहला मौका है, जब उसे आतंक की इस तरह की घटना से रूबरू होना पड़ा है।

बंदूकधारी ईरानी मूल का हारून मोनिस था, जो खुद को मौलवी बताता था। उसने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री टोनी एबट से बात करने के अलावा आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) का झंडा उपलब्ध कराने की मांग की थी। इससे पहले सोमवार सुबह ऑस्ट्रेलिया समेत पूरी दुनिया में उस समय सनसनी फैल गई, जब सिडनी के केंद्र में स्थित मार्टिन प्लेस बिल्डिंग में ‘लिंट चॉकलेट’कैफे में एक बंदूकधारी घुस गया और वहां मौजूद लोगों को बंधक बना लिया। इस क्षेत्र को संसदीय, कानूनी और खुदरा इलाके के संगम के रूप में जाना जाता है।

टीवी चैनलों पर कैफे के भीतर की फुटेज दिखाए जाने के बाद पुलिस और आतंकियों से निपटने में विशेषज्ञ सुरक्षा बलों ने इलाके को पूरी तरह से घेर लिया और भारतीय वाणिज्य दूतावास समेत आसपास के कार्यालयों को खाली करा लिया। टीवी फुटेज में साफ दिख रहा था कि कैफे की खिड़की पर काला झंडा लगा है और लोग खिड़की पर हाथ रखे खड़े हैं। इस झंडे पर अरबी में लिखा हुआ था, ‘अल्लाह एक है, मोहम्मद उसके पैगंबर हैं’। हालांकि यह आतंकी संगठन आईएस का झंडा नहीं था बल्कि मस्जिदों में नमाज के दौरान रोजाना इस्तेमाल होने वाला झंडा था।

करीब पांच घंटे के बाद पहले दो और फिर तीन लोग किसी तरह से बच कर बाहर निकलने में कामयाब हो गए। देर रात 2 बजे (रात नौ बजे, भारतीय समयानुसार) कुछ लोगों के कैफे से बाहर भागने के तुरंत बाद अत्याधुनिक हथियारों से लैस सुरक्षा बलों ने कैफे में घुसने की कार्रवाई शुरू की। सुरक्षा बलों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाते हुए कैफे के प्रवेश द्वार को ग्रेनेड से उड़ा दिया और अंदर घुसकर कार्रवाई को अंजाम दिया।ईरानी मूल का 49 वर्षीय हारून मोनिस 1996 में शरणार्थी के तौर पर ऑस्ट्रेलिया आया था। मोनिस पर अपनी पूर्व पत्नी की हत्या के अलावा यौन उत्पीड़न के कई मामले दर्ज हैं। नवंबर, 2013 में उसने अपनी पूर्व पत्नी की हत्या कर घर को आग लगा दी थी। 2007 से 2009 के बीच उसने ऑस्ट्रेलिया के अफगानिस्तान में शहीद जवानों के परिवारों को भी विवादित ईमेल भेजे थे। उसकी मौजूदा साथी पर भी हत्या का आरोप है। खबरों के अनुसार वह ज्योतिष विद्या और काला जादू करने में माहिर था।

एक बंधक के मरने से पुलिस ने बोला हमला
ऑस्ट्रेलियाई मीडिया 7 नेटवर्क के मुताबिक जब हारून की पकड़ से कुछ बंधक भाग निकलने में कामयाब हो गए, तो उसने गुस्से में आकर फायरिंग शुरू कर दी और एक बंधक को मार गिराया। शायद इसके बाद ही पुलिस ने बिल्डिंग में घुसने का फैसला किया।
ईरानी मूल का 49 वर्षीय हारून मोनिस 1996 में शरणार्थी के तौर पर ऑस्ट्रेलिया आया था। मोनिस पर अपनी पूर्व पत्नी की हत्या के अलावा यौन उत्पीड़न के कई मामले दर्ज हैं। नवंबर, 2013 में उसने अपनी पूर्व पत्नी की हत्या कर घर को आग लगा दी थी। 2007 से 2009 के बीच उसने ऑस्ट्रेलिया के अफगानिस्तान में शहीद जवानों के परिवारों को भी विवादित ईमेल भेजे थे। उसकी मौजूदा साथी पर भी हत्या का आरोप है। खबरों के अनुसार वह ज्योतिष विद्या और काला जादू करने में माहिर था।

एक बंधक के मरने से पुलिस ने बोला हमला
ऑस्ट्रेलियाई मीडिया 7 नेटवर्क के मुताबिक जब हारून की पकड़ से कुछ बंधक भाग निकलने में कामयाब हो गए, तो उसने गुस्से में आकर फायरिंग शुरू कर दी और एक बंधक को मार गिराया। शायद इसके बाद ही पुलिस ने बिल्डिंग में घुसने का फैसला किया।

महज दो मिनट में ढेर
भले ही हारून मोनिस ने लोगों को 16 से भी ज्यादा घंटे तक बंधक बनाए रखा, लेकिन उसे ढेर करने में सुरक्षा बलों को दो मिनट से भी कम का समय लगा। कैफे में घुसने के कुछ सेकेंड के भीतर ही सुरक्षा बलों ने कैफे के दरवाजे को विस्फोट से उड़ा दिया और अत्याधुनिक हथियारों से फायरिंग शुरू कर दी।

जर्मनी चैंपियन, कांस्य से भी चूका भारत

 भुवनेश्वर,15/12: पाकिस्तान के खिलाड़ियों के भारत के खिलाफ शनिवार को सेमीफाइनल जीतने के जोश में मर्यादा लांघने के बाद मेजबान टीम के दर्शक रविवार को चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी फाइनल में पूरी तरह जर्मनी के साथ दिखे। सही मायनों में कलिंगा स्टेडियम में करीब सात हजार दर्शक जर्मनी के हर अभियान पर क्रिस्टोफर रूइर, फ्लोरियन फुश्च और मार्टिन ज्वीकर की हौसला आफजाई कर रहे थे। जर्मनी ने भी अपने भारतीय समर्थकों को निराश नहीं किया और दसवीं बार दुनिया की चैंपियन टीमों की जंग में खिताब जीत कर खुद को असली चैंपियन साबित किया।

जर्मनी के यंग स्ट्राइकर क्रिस्टोफर रूईर और अनुभवी डिफेंडर कप्तान मरकज वीज की जोड़ी ने रंग जमा दिया। रूईर ने दोनों छोर से हमले बोलकर यह दर्शाया कि जोश के साथ होश का मेल हो जाए तो टीम कोई भी इम्तिहान पास कर सकती है। जर्मनी ने दूसरे और आखिरी क्वार्टर में बेहतरीन मैदानी गोल कर पाकिस्तान को फाइनल में यहां रविवार को 2-0 से हराकर खिताब जीत लिया। जर्मनी की ओर से क्रिस्टोफर वेस्ली और फ्लोरियन फुश्च ने एक-एक गोल किया। जैसे ही फाइनल में आखिरी सीटी बजी तो साउंड सिस्टम पर माहौल के मिजाज के मुताबिक यह गीत गूंज उठा ‘अभी तो पार्टी शुरू हुई है।’

जर्मनी पूरे तीन क्वार्टर में हावी रही। पाकिस्तान की टीम जर्मनी के खिलाफ एकदम बेदम नजर आई। पहले और दूसरे क्वार्टर में तो पाकिस्तान की टीम जर्मनी के गोल पर एक भी हमला नहीं बोल पाई। जोनास गोमोल ने दूसरे क्वार्टर के शुरू में बाएं से गेंद संभाल कर डी के ठीक ऊपर क्रिस्टोफर वेसले की ओर गेंद बढ़ाई। इस पर वेसले ने तेज शॉट जमा गोल कर जर्मनी को 1-0 से आगे कर दिया। खेल खत्म होने से तीन मिनट पहले फुश्च ने पाकिस्तान के कप्तान मोहम्मद इरफान और मोहम्मद इमरान को चकमा दे जोरदार वॉली जमा गोल कर जर्मनी की जीत निश्चित कर दी।

 

सीबीआई के नए निदेशक बने अनिल सिन्हा

नई दिल्ली, 3/12: वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी अनिल कुमार सिन्हा को मंगलवार रात में नया सीबीआई निदेशक नियुक्त किया गया।

अनिल मंगलवार को ही इस पद से रिटायर हुए रंजीत सिन्हा की जगह लेंगे। 1979 बैच के बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी सिन्हा सीबीआई में विशेष निदेशक थे। सिन्हा की नियुक्ति लोकपाल कानून के तहत की गई है। उन्हें दो साल के लिए निदेशक बनाया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने अनिल कुमार सिन्हा के नाम को मंजूरी दी थी। मंगलवार शाम को खोज समिति (सर्च कमेटी) ने उनके साथ कुछ अन्य लोगों के नाम का छांटा था। सिन्हा का कार्यकाल पदभार ग्रहण करने के दिन से दो साल के लिए होगा।

इससे पहले लोकपाल कानून के प्रावधानों के तहत पीएम मोदी ने सर्वोच्च अदालत के मुख्य न्यायाधीश एचएल दत्तू और लोकसभा में बड़े विरोधी दल कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ नए सीबीआई प्रमुख को चुनने पर विचार विमर्श किया। पैनल ने कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) द्वारा चुने गए 40 नामों पर विचार विमर्श किया था।

कछुआ प्रजनन क्षेत्र में मछली पकडने पर 19 गिरफ्तार

भुवनेश्वर। ओडिशा के केंद्रपाडा जिले में गहिरमाथा तट पर कछुआ प्रजनन क्षेत्र में मछली पकडने के कारण कम से कम 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यह जानकारी मंगलवार को एक अधिकारी ने दी। प्रभागीय वन अधिकारी केदार कुमार स्वैन ने बताया कि ये लोग सोमवार को समुद्री अभयारण्य के वर्जित इलाके में मछली पकडते हुए गिरफ्तार किए गए।एक नवंबर को क्षेत्र में मछली पकडने पर सात महीने का प्रतिबंध लगने के बाद से यह दूसरी गिरफ्तारी की गई है। समुद्री कछुओं के संरक्षण के लिए उनके प्रजनन काल को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने राज्य के 480 किलोमीटर के समुद्र तट में से 120 किलोमीटर समुद्र तटीय क्षेत्र में मछली पकडने पर प्रतिबंध लगाया है। प्रतिबंध 31 मई तक लागू रहेगा। स्वैन ने बताया राजधानी भुवनेश्वर से लगभग 170 किलोमीटर की दूरी पर स्थित गहिरमाथा समुद्री अभयारण्य दुनिया के सबसे बडे कछुआ प्रजनन स्थलों में से एक है, जहां अक्टूबर से नवंबर के बीच लगभग पांच लाख ओलिव रीडले कछुए समुद्र के पानी में एकत्र होते हैं और दिसंबर से मार्च के बीच प्रजनन करते हैं। इस साल कछुए पहले ही एकत्र हो चुके हैं। मछुआरों के ट्रालरों से कछुओं के उसमें फंसने और मरने का खतरा रहता है। प्रजनन काल के दौरान तटों पर मछलियां पकडने और गश्ती के कारण कछुओं की संख्या में कमी आई है। स्वन ने बताया कि एक नवंबर से गहिरमाथा तट के पास कई जगहों पर तीन या चार ओलिव रीडले कछुए देखे गए हैं। – See more at: http://www.khaskhabar.com/picture-news/news-19-held-for-fishing-near-odisha-turtle-nesting-site-1-69658.html#sthash.9phLbXgf.dpuf

जम्मू-कश्मीर और झारखंड में भाजपा को नहीं मिलेगा बहुमत!

नई दिल्ली, 27 नवंबर 2014:  जम्मू-कश्मीर और झारखंड में हो रहे विधानसभा चुनाव में अभी मात्र एक चरण ही संपन्न हुआ है, लेकिन अभी से सट्टा बाजार को लगने लगा है कि इन दोनों राज्यों में भाजपा को बहुमत नहीं मिलेगा। हालांकि सट्टा बाजार ने यह भी भविष्यवाणी की है भाजपा इन दोनों राज्यों में अपने पिछले प्रदर्शन से थोड़ा बेहतर कामयाबी हासिल करेगी।

सट्टा बाजार के आंकलन की माने तो भाजपा जम्मू-कश्मीर की 87 सीटों में से मात्र 25 सीटों पर ही जीत हासिल कर पाएगी और झारखंड में भी भाजपा 81 में से माज्ञ 25 सीटों पर ही जीत पाएगी। अगर इन राज्यों में भाजपा की मौजूदा स्थिति की बात करें तो जम्मू-कश्मीर में भाजपा के पास 11 सीटे हैं और झारखंड में भाजपा का मात्र 18 सीटों पर ही कब्जा है।

भाजपा के जम्मू-कश्मीर में 25 सीटें जीतने पर भी 0.58:1 का सट्टा लग चुका है। दिल्ली के दो सट्टा कारोबारियों ने बताया है कि अगर भाजपा यहां पर 25 सीटें जीतती है तो बुकी हर एक रूपए पर 58 पैसे देगा। इन्होंने बताया कि वो भाजपा के 20 सीटें जीतने का सही आंकलन करने वाले को प्रति रूपए 70 पैसे देंगे, वहीं अगर कोई भाजपा के 30 सीटें जीतने का आंकलन करता है और ऐसा अगर वास्तव में होता है तो वो उसे प्रति रूपया 1.10 पैसा देंगे।

सट्टा कारोबारियों ने आगे बताया कि अगर कोई 87 विधानसभा सीटों में से भाजपा के 35 सीटों के जीतने पर सट्टा लगाता है तो उसे प्रति रूपया 1 रूपए ऊपर से मिलेगा और अगर कोई भाजपा की अनुमानित सीटों का सटीक आंकलन करता है तो उसे प्रति रूपया ऊपर से 2.25 रुपए दिए जाएंगे।

पहले बुलडोजर मेरे ऊपर चलाना होगा: राहुल

rahul-gandhi

28 नवंबर 2014, नई दिल्ली ः दक्षिणी दिल्ली में रंगपुरी पहाड़ी की झुग्गियों को ढहाने के मामले ने राजनीतिक रूप ले लिया है। बृहस्पतिवार शाम कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रंगपुरी पहाड़ी पहुंचे।

उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर गरीब विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि अगली बार पहले बुलडोजर उनके ऊपर से चलेगा। कांग्रेस गरीबों के हक की लड़ाई आखिरी सांस तक लड़ती रहेगी।

राहुल के साथ प्र्रदेश कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता मौजूद थे। भारी सुरक्षा के बीच रंगपुरी पहुंचे राहुल गांधी ने लोगों से मुलाकात की और उनसे वादा किया कि कोई भी उनके साथ ज्यादती नहीं कर पाएगा। राजधानी में किसी को बेघर नहीं होने दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सर्द मौसम में गरीबों को उजाड़ना बेहद दुखद है। भाजपा साजिशन इस तरह के कदम उठा रही है।

क्या नेपाल फिर कभी हिंदू राष्ट्र बन पाएगा?

भारत में नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद क्या पड़ोसी देश नेपाल में देश को दोबारा हिंदू राष्ट्र घोषित किए जाने की मांग को बल मिलेगा? ढाई करोड़ से ज़्यादा की जनसंख्या वाले नेपाल को 2006 में धर्मनिरपेक्ष राज्य घोषित कर दिया गया था।

लेकिन लंबे समय से जारी राजनीतिक संकट और इसाई संस्थाओं द्वारा कथित धर्मपरिवर्तन के आरोपों के बीच नेपाल को फिर हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग जोर पकड़ रही है।

इस मांग के समर्थन में राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी नेपाल ने हस्ताक्षर अभियान चलाया हुआ है। पार्टी का दावा है कि पिछले एक महीने में उसने 20 लाख से ज़्यादा हस्ताक्षर इकट्ठा किए हैं।

पार्टी की काठमांडू ज‌िला इकाई के अध्यक्ष नवराज सिंह खड़का कहते हैं, “दुनिया भर में नेपाल एकमात्र हिंदू राष्ट्र था। ये नेपाल और नेपाली दोनों की पहचान है। हम दुनिया भर के एक अरब 25 करोड़ हिंदुओं की पहचान के लिए लड़ रहे हैं।”

नेपाल में 80 प्रतिशत से ज्यादा लोग हिंदू हैं। राजनीतिक गतिरोध और धर्म परिवर्तन के आरोपों के कारण लोगों में निराशा है, लेकिन भारत में नरेंद्र मोदी के सत्ता संभालने से हिंदू राष्ट्र समर्थकों में उत्साह है।

1 120 121 122