बाबा रामदेव के ‘पुत्रजीवक बीज’ पर राज्य सभा में मचा बवाल

दिल्ली,३०/४ः बाबा रामदेव और उनकी दवाइयां एक बार फिर चर्चा में हैं। राज्य सभा में जनता दल यूनाइटेड के सांसद केसी त्यागी ने बाबा रामदेव की दिव्य फार्मेसी पर सवाल उठा दिए हैं। जनता दल यूनाइटेड के सांसद केसी त्यागी ने कहा कि बाबा रामदेव की दिव्य फार्मेसी ‘पुत्रजीवक बीज’ के नाम से पुत्र पैदा करने वाली दवा बेचती है। ऐसी दवा बेचना संविधान के खिलाफ है। इस दवा पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी जानी चाहिए। केसी त्यागी की इस मांग का कई सांसदों ने समर्थन किया। इस पर स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने मामले की जांच करवाने का भरोसा दिया है। गौरतलब है कि बाबा रामदेव के पतंजलि स्टोर पर मिलने वाले उत्पादों को लेकर कई सवाल खड़े हो चुके हैं।के सी त्यागी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी अपने भाषण में ‘बेटी बचाओ’ का नारा लगा रहे हैं, पर यह दुखद है कि हरियाणा सरकार के ब्रैंड एंबैसडर योगगुरु रामदेव की कंपनी दिव्य फार्मेसी पुत्र पैदा करने की दवा बेच रही है।प्रधानमंत्री ने ‘बेटी बचाओ अभि‍यान’ की शुरुआत भी हरियाणा से ही की थी। राज्यसभा के उपसभापति पी जे कुरियन ने राज्यसभा में इस मामले को उठाने पर सवाल खड़ा करते हुए त्यागी से पूछा कि क्या यह दवा बेचने वाली संस्था सरकारी है?पतंजलि योगपीठ ने राज्यसभा में हुए हंगामे का जवाब देते हुए कहा कि पुत्रजीवक दवा उन लोगों के लिए है जिन लोगों को बच्चे पैदा नहीं हो रहे हैं। इस दवा के आधार पर पैदा होने वाले बच्‍चे के लिंग का चुनाव नहीं किया जा सकता है।

पतंजलि योगपीठ ने कहा कि इस दवाई का हिंदी में नाम पुत्रजीवक इसलिए पड़ा क्योंकि इसका बॉटनिकल नाम पुतरजीवा रॉक्सबुरघी है। उन्होंने कहा कि यह पतंजलि पीठ को बदनाम करने की यह साजिश है। साथ ही लोग कम ज्ञान के अभाव में आयुर्वेद को बदनाम कर रहे हैं।

दिव्य फार्मेसी की दवा को लेकर विवाद आज का नहीं है। पतंजलि योगपीठ में ‘पुत्रवती’ नामक दवा बेचने को लेकर काफी विवाद हुआ था । वर्ष 2007 में उत्तराखंड सरकार के आदेश पर मामले की जांच भी की गई थी, जिसके बाद इस दवा को बेचना बंद कर दिया था। उस समय हुए विवाद के बाद दिव्य फार्मेसी की इस दवा का नाम बदलकर ‘पुत्रवती’ की जगह ‘पुत्रजीवक बीज’ कर दिया गया।
आपको बताते चले की इस दवा पर कहीं भी ऐसा कोई दावा नहीं किया गया है कि यह बेटा प्राप्ति के लिए दी जाने वाली दवा है। दिव्य फार्मेसी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी में सिर्फ इतना लिखा है- प्रसव संबंधी समस्याओं और इन्फर्टिलिटी के लिए, लेकिन वेबसाइट पर बेटे की चाहत रखने वालों के ऑनलाइन सवाल के जवाब में सलाह के तौर पर इस दवा का सुझाव दिया गया है।
त्यागी ने कहा कि इससे जुड़े रामदेव हरियाणा के ब्रैंड ऐंबैसडर हैं। इस पर उपसभापति ने कहा कि फिर यह राज्य का मामला है।
इसके बाद सपा से सांसद जया बच्चन और मनोनीत सांसद जावेद अख्तर समेत कई सदस्य त्यागी के सुर में सुर मिलाते हुए खड़े हो गए। मामला गर्म होते देख संसदीय राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सरकार अभी इस मामले में और जानकारी इकट्ठा करना चाहेगी।
इस पर स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि यह गंभीर मसला है और सरकार इस ओर उचित कार्रवाई करेगी। त्यागी सदन में दवा का पैकेट और उसे खरीदने की रसीद लेकर आए थे।

Comments

comments