पाक का राग कश्मीर, बातचीत को लगा धक्का

नई दिल्ली, 13/7 : पाकिस्तान ने अपनी औकात दिखा दी है। भारत हाल ही में पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए राजी हुआ और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश तथा सुरक्षा मामलों के सलाहकर सरताज अजीज कहने लगे कि कश्मीर मसले पर बातचीत किए बगैर भारत से वार्ता का कोई मतलब नहीं है।

यहीं नहीं, पाकिस्तान की स्थापना के लिए लड़े सरताज अजीज ये भी कह रहे हैं कि पाकिस्तान को मुंबई हमले में पाकिस्तान के कथित रोल के संबंध में और साक्ष्य चाहिए। यानी उन्हें लगता है कि मुंबई पर हमला बोलने वाले पाकिस्तानी नहीं थे।

हालांकि दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने गत दिनों जब आपस में बातचीत को फिर से शुरू करने की बात पर फैसला किया था तब दोनों ने कश्मीर या मुंबई हमलों का कहीं कोई जिक्र नहीं किया था। बातचीत का एजेंडा तब नरेन्द्र मोदी और नवाज शरीफ ने तय किया था कि दोनों मुल्क बिना किसी वाद-विवाद के बातचीत फिर से शुरू करना चाहेंगे। पाकिस्तान प्रधानमंत्री के सलाहकार अजीज ने तो जो उत्साह कायम हुआ था, उस पर पानी फेर दिया। सरताज अजीज ने उक्त बयानबाजी निश्चित रूप से पाकिस्तान के आला नेताओं के इशारों पर की होगी।

वहां पर कुछ तत्व भारत से किसी भी सूरत में संबंधों को सामान्य बनाना ही नहीं चाहते। इसमें वहां की पंजाबी लॉबी सबसे ज्यादा एक्टिव रहती है। मशहूर चिंतक राजमोहन गांधी ने एक बार कहा भी था कि पाकिस्तान के गैर-पंजाबी सूबों में भारत का विरोध नहीं होता। पर पंजाबी लॉबी भारत से नफरत करती है। बता दें कि पाकिस्तान की आर्मी में पंजाबियों का असर सबसे ज्यादा है। बहरहाल, अजीज के कश्मीर अलाप

Comments

comments